मेंथी के फायदे और नुकसान- Methi khane ke fayde aur nuksan

0
749
fenugreek in hindi
fenugreek in hindi

fenugreek in hindi: मेंथी एक ऐसी फसल या पौधा है जिसको सब्जी बनाकर खाया जाता है और अन्य मेंथी को मसालों की तरह भी प्रयोग में लिया जाता है । शायद आप यह नहीं जानते होंगे कि इसे औषधि के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। मेंथी को बहुत सी बीमारियों के इलाज के लिए भी उपयोग में लिया जाता है। आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे कि मेंथी के क्या-क्या फायदे हैं, और क्या इससे नुकसान भी हो सकते हैं?

मेंथी क्या है- what is fenugreek in hindi

fenugreek in hindi meaning मेंथी वर्ष में एक बार खुलने वाला एक औषधि पौधा है। इसके पौधे में छोटे-छोटे फूल आते हैं। इस की फली मूंग की दाल की जैसी होती है। किसके बीच बहुत छोटे छोटे होते हैं, और यह स्वाद में भी कड़वे जैसा लगता है। मेंथी का पौधा लगभग 2 से 3 फीट लंबा होता है। इस की फली में 10 से 20 छोटे-छोटे पीले भूरे रंग के तेज गंध वाले बीज होते हैं, जिनका प्रयोग( use of methi dana) बहुत सी बीमारी के लिए किया जाता है। मेंथी में आपको एंटीमाइक्रोबॉयल, एंटीआक्‍सीडेंट, एंटीडाइबेटिक और एंटीट्यूमोरिजेनिक जैसे गुण मिलते हैं। यह सभी प्रकार के गुण हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं। 

मेंथी के फायदे- fenugreek benefits in hindi

methi ke fayde: मेंथी एक ऐसी चीज़ है जिसको हर तरीके से खाने से फायदे होते हैं। कुछ लोग हरी मेंथी यानी इसकी पत्तियों का इस्तेमाल सभी बनाने में करते हैं वही अंकुरित मेंथी और इसके दाने या बीच के भी कई फायदे हैं। जिनका उपयोग बहुत से बीमारियों के इलाज के लिए भी किया जाता है, जो निम्नलिखित इस प्रकार हैं।

डायबिटीज रोगियों के लिए मेंथी के फायदे- Fenugreek For Diabetes in Hindi

शुगर के मरीजों को डाइट में मेंथी के दाने का प्रयोग करने के लिए कहा जाता है। इसके प्रयोग से शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। डायबिटीज टाइप 2 के मरीजों के लिए भी मेंथी का दाना फायदेमंद है। वैज्ञानिक शोध में पाया गया कि मेंथी के दाने में घुलनशील फाइबर होता है। जो पाचन की क्रिया को धीरे कर देता है। यह कार्बोहाइड्रेट के पाचन और अवशोषण की दर को कम कर देता है। जिससे खून में शुगर की मात्रा को कंट्रोल कर देता है। साथ ही में इंसुलिन की संवेदनशीलता को भी काफी बेहतर कर देता है।

2. मेंथी कोलेस्ट्रॉल को कम करता है- methi dana ke fayde For lower Cholesterol in Hindi

रिसर्च में पाया गया है कि मेंथी में कोलेस्ट्रॉल कम करने की क्षमता होती है। खासकर एलडीएल (LDL) यानी कि खराब कोलेस्ट्रोल को शरीर से खत्म करने में यह काफी कारगर है। खून में लिपिड स्तर को कम करने के लिए मेंथी के दानो में नारिंगेनिन नामक फ्लेवोनोइड मौजूद होता है। इसके अलावा यह मरीज का हाई लेवल कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं।

3. अर्थराइटिस के दर्द के लिए फायदेमंद मेंथी- Fenugreek Prevent Arthritis in Hindi

उम्र बढ़ने के साथ-साथ जोड़ों में सूजन आ जाती है, जिसके कारण बहुत जोड़ों में दर्द होने लगते हैं। जिसे अर्थराइटिस करते हैं। अर्थराइटिस से निजात पाने के लिए मेंथी का प्रयोग रामबाण है। जिसे सर्दियों में प्रयोग किया जाता है। जोड़ों की सूजन कम करने के लिए मेंथी में एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। मेंथी में आयरन कैल्शियम और फास्फोरस भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। मेंथी के सेवन से हड्डियों और जोड़ों को जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं, और वे स्वस्थ रहते हैं।

4. पाचन तंत्र में मेंथी के फायदे- methi ke fayde For Digestion in hindi

सही तरीके से पाचन क्रिया ना होने पर बदहजमी कब्ज, एसिडिटी और गैस जैसी बीमारियां हो सकती है। मेंथी के सेवन से इनको दूर किया जा सकता है। मेंथी के दानों में अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाता है। साथ ही मेंथी प्राकृतिक रूप से ल्यूब्रिकेंट पाया जाता है जो पेट व आंतों को चिकना एवं बनाकर कब्ज जैसी बीमारियों को दूर करता है। अपेंडिक्स के दौरान पेट में गंदगी को भी यह साफ कर देता है।

5. कैंसर के लिए मेंथी के फायदे- methi for cancer in hindi

कैंसर पर हुए कई रिसर्च में यह सामने आया है, कि मेंथी में कैंसर से निपटने की क्षमता होती है। मेंथी के तेल में एंटी कैंसर के गुण मौजूद होते हैं। जो कैंसर सेल के प्रभाव को रोकने में कारगर होते हैं। मेंथी का सेवन करने से इम्यून सिस्टम पहले से ज्यादा सक्रिय हो जाता है। जिससे कैंसर की कोशिकाएं नष्ट होने लगती हैं।

6. मेंथी से वजन कम करना- fenugreek seeds for weight loss in hindi

मेंथी का सेवन करने से शरीर में फैट नहीं जमा होता है। शरीर में यह लिपिड और ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म के स्तर में भी सुधार लाता है। जिसके कारण वजन में कमी होने लगती है।

7. हाई ब्लड प्रेशर में लाभदायक मेंथी- methi dana for high blood pressure in hindi

सोडियम हाई ब्लड प्रेशर का कारण होता है। डाइट में जब आप सोडियम की मात्रा का ज्यादा प्रयोग करने लगते हैं, तो हाई ब्लड प्रेशर हो जाता है। मेंथी के सेवन से इससे छुटकारा पाया जा सकता है। एक चम्मच मेंथी के दाने में सिर्फ 7 मिलीग्राम सोडियम की मात्रा होती है। नमक में आपको एक चौथाई चम्मच नमक में 581 मिलीग्राम सोडियम की मात्रा होती है। फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ का प्रयोग करने से ब्लड प्रेशर को नियंत्रित किया जा सकता है। यही कारण है कि हाई ब्लड प्रेशर में मेंथी का सेवन करना चाहिएक्योंकि इसमें अधिक मात्रा में फाइबर की उपस्थिति होती है।

8. किडनी के लिए फायदेमंद मेंथी का पाउडर- methi khane ke fayde kidney ke liye

किडनी की समस्या से लड़ने के लिए मेंथी में पॉलीफेनोलिक फ्लेवोनोइड पाया जाता है जो किडनी को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है। एक किडनी के आसपास रक्षा घेरा बना देता है। जिससे इसके सेल खत्म होने से बच जाते हैं। शरीर में एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा कम होने से तनाव होने लगता है, और ऑक्सीडेटिव तनाव का प्रभाव बढ़ जाता है। इसी के कारण किडनी पर प्रभाव पड़ता है। मैथिली में एंटी ऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा होती है। इसीलिए इसका सेवन करने के लिए एडवाइज दी जाती है।

 मेंथी के नुकसान- methi ke nuksan in Hindi

मेंथी का दाना (मेंथी पाउडर) में अधिक गर्मी होती है, जिससे दस्त की परेशानी भी हो सकती है। इसीलिए इसका संतुलित मात्रा में प्रयोग करें। प्रेग्नेंट महिलाएं इसका प्रयोग ना करें अगर आवश्यकता हो तो डॉक्टर से इसकी सलाह जरूर लें।मेंथी से अगर किसी को एलर्जी है, तो इसका प्रयोग ना करें।

अगर आपको मेंथी का प्रयोग अपनी त्वचा पर करना है, तो इससे पहले कहीं भी अपने त्वचा के छोटे हिस्से पर लगाकर 20 से 25 मिनट तक छोड़ दे और देखें कि किसी भी प्रकार की एलर्जी तो नहीं हो रही। अगर किसी भी प्रकार की दिक्कत आपको नहीं दिखाई दे रही हो तो आप इसका प्रयोग कर सकते हैं

डायबिटीज की दवाओं के साथ इसका सेवन बहुत ही ध्यान पूर्वक करना चाहिए नहीं तो शुगर लेवल कम हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here