काजू खाने के फायदे और नुकसान- Cashew Benefits and Side effects in Hindi

0
134
kaju (cashew) khane ke fayde in hindi

kaju (cashew) khane ke fayde in hindi | काजू खाने के फायदे और नुक्सान | raat ko kaju khane ke fayde

शरीर की किसी भी कमजोरी को ड्राई फ्रूट्स की मदद से दूर करना हो और काजू का जिक्र न हो ऐसा शायद ही कभी होता है। काजू खाने के फायदे अनगिनत है। इसलिए चाहे वह मिष्ठान हो या फिर नमकीन व्यंजन दोनों में ही काजू का उपयोग किया जाता है। काजू लाभप्रद है इसमे कोई संदेह नही है पर ऐसा भी नही है कि काजू खाने के सिर्फ फायदे ही फायदे हैं।

kaju (cashew) khane ke fayde in hindi

बता दें काजू खाने के नुकसान भी है। कहते हैं कि किसी भी चीज़ की अति हमेशा नुकसानदेह होती है। यदि काजू का अधिक सेवन करते हैं तो यह उल्टा प्रभाव भी दिखा सकता है। इसलिए आज के इस लेख में हम आपके लिए लेकर आएं हैं काजू खाने के फायदे के साथ-साथ काजू खाने के नुकसान जिन्हें जानने के बाद आप सही निर्णय ले सकते हैं।

काजू खाने के फायदे और नुकसान हिंदी में- Kaju ke fayade or nukashan Hindi

काजू खाने के फायदे- cashew benefits in hindi

1. ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाता है

जिन लोगो को ब्लड प्रेशर की समस्या बनी रहती है, खासकर लो ब्लड प्रेशर की, उन्हें कम से कम 3-4 काजू का सेवन नियमित करना चाहिए। काजू का नियमित सेवन करने से ब्लड प्रेशर सामान्य बना रहता है, जिससे ब्रेन हेमरेज की संभावना घट जाती है।

2. पाचन तंत्र को दुरुस्त करता है

पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए सबसे ज्यादा फाइबर की जरूरत होती है। हमारे शरीर को जितना अधिक फाइबर मिलेगा, कब्ज और अल्सर जैसी समस्याओं से हम उतना ही दूर रहेंगे।

काजू में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जिन्हें कब्ज की समस्या है वो काजू का सेवन कर सकते हैं। लेकिन इस बात का भी विशेष ध्यान रखें कि सेवन के बाद शारीरिक गतिविधि जरूर होना चाहिए।

3. हड्डियों को मजबूत बनाता है

काजू कैल्शियम और मैग्नीशियम का एक अच्छा स्त्रोत है। ये दोनों ही तत्व न सिर्फ हमारे शरीर को मजबूत बनाता है, बल्कि साथ मे ऑस्टियोपोरोसिस जैसी हड्डी को कामजोर बनाने वाली बीमारी से बचाता है। कैल्शियम और मैग्नीशियम ये दोनों ही तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाते हैं।

4. दिमाग को स्वस्थ बनाता है

जैसा कि आप जान चुके हैं कि काजू में मैग्नीशियम अधिक पाया जाता है। मैग्नीशियम एक ऐसा तत्व है जो दिमाग को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए बहुत जरूरी है। मैग्नीशियम के कारण दिमाग मे रक्त प्रवाह अच्छा बना रहता है।

यदि किसी को मष्तिष्क की चोट लग जाए और रक्त का प्रवाह बाधित हो जाए तो काजू का सेवन बहुत लाभप्रद हो सकता है। काजू में कुछ ऐसे तत्व भी मौजूद होते हैं जो अवसाद (डिप्रेशन) से बाहर निकालने में सहायक होते है। ये एंटीडिप्रेसेंट की तरह काम करते हैं।

5. डायबिटीज दूर करने में सहायक

जैसा कि आप जानते हैं कि काजू में मैग्नीशियम पाया जाता है। यह एक तत्व ही शरीर को कई बीमारियों से बचाता है। ऐसी ही एक बीमारी डायबिटीज है, जो काजू खाने से काबू में रहती है।

डायबिटीज की सबसे बड़ी वजह है रक्त में अतिरिक्त ग्लूकोज का बनना। मैग्नीशियम में वह गुण होता है कि वह ग्लूकोज को सोख सकें। काजू के नियमित सेवन से रक्त में ग्लूकोज की मात्रा संतुलित रहती है।

6. शिशु के विकास में सहायक

गगर्भवती महिलाओं को काजू का सेवन करना लाभ पहुचा सकता है क्योंकि गर्भावस्था में भ्रूण का विकास तेजी से होता है। ऐसे में उसे विकास के लिए पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

काजू में कैल्शियम और मैग्नीशियम दो ऐसे मूल्यवान तत्व रहते हैं जो भ्रूण के विकास में बहुत सहायक होते हैं। बच्चे के जन्म के कुछ माह बाद से काजू का घोल बनाकर पिलाया जा सकता है। इससे उनका विकास तेजी से होता है और हड्डियां मजबूत बनती हैं।

काजू खाने के नुकसान- cashew side effects in Hindi

1. वजन बढ़ने की संभावना

काजू में ऊर्जा और फैट्स प्रचुर मात्रा में होता है। यदि आप 3-4 काजू दिन में खाते हैं तो उससे 163 कैलोरीज मिलती है। इसलिए यदि आप शारीरिक गतिविधि नही करते और रोजाना काजू का सेवन करते हैं तो वजन बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है।

2. सोडियम अधिक मात्रा में मिलती है

काजू में सोडियम पाया जाता है। यदि शरीर में सोडियम की मात्रा जरूरत से ज्यादा बढ़ जाए तो इससे उच्च रक्तचाप, किडनी और हृदय से जुड़ी समस्या हो सकती है। यदि एक वयस्क इंसान की रोजाना सोडियम की जरूरत देखें तो यह 1500 mg की है।

वही साधारण 3-4 काजू खाने से 5mg सोडियम मिलता है जबकि नमक वाली काजू खाने से करीब 100 mg सोडियम मिलता है

3. दवाईयां हो जाती है बेअसर

काजू के नियमित सेवन से डायबटीज,थाइराइड, मूत्र विकार से संबंधित दवाईयां कम असरदार हो जाती है। जैसा कि आप जानते हैं कि काजू में मैग्नीशियम में करीब 82.5mg होता है। यह सामान्य से अधिक है। मैग्नीशियम की यही अधिक मात्रा कुछ दिक्कतों में तो लाभदायक होती है, लेकिन कुछ बीमारियों की दवाओं को बेअसर कर देती है

4. पेट से संबंधित दिक्कतें

काजू में फाइबर होता है यह हमने ऊपर बताया है। फाइबर पेट और पाचन तंत्र के लिए काफी अच्छा भी माना जाता है। लेकिन यदि यही फाइबर शरीर मे जरूरत से ज्यादा हो जाएं तो पेट दर्द, गैस और पेट मे सूजन जैसी कई समस्याओं को जन्म दे सकता है।

कब्ज और एसिडिटी जैसी समस्याओं से परेशान हो सकते हैं। इसलिए सेवन करने से पूर्व अपने पाचन की स्थिति पर भी जरूर गौर पर लें।

5. पोटेशियम की अधिक मात्रा है नुकसानदायक

काजू में पोटेशियम काफी ज्यादा होता है। वैसे पोटेशियम शरीर के लिए लाभदायक होता है लेकिन जब यह जरूरत से ज्यादा हो जाए तो कई दिक्कतों को जन्म दे सकता है। जिनमें से सबसे बड़ी दिक्कत है दिल की धड़कन का अचानक रुक जाना।

इसके अलावा शरीर मे कमजोरी महसूस होना, किडनी कमजोर हो जाना जैसी कुछ और दिक्कतें हो सकती है।

6. एलर्जी की समस्या

काजू में कई पोषक तत्व काफी अधिक मात्रा में मौजूद होते हैं जो शरीर की आंतरिक कमजोरी को तो दूर करते हैं। लेकिन कुछ लोगो का शरीर इतनी अधिक ऊर्जा और पोषक तत्वों को सही तरह से नही पचा पाता, जिसके चलते शरीर मे एलर्जी होने लगती है। खुजली होना, उल्टी, दस्त, लाल चकते बन जाना जैसी कई समस्याएं एलर्जी के कारण होती है।

बेशक काजू बहुत पौष्टिक चीज़ है लेकिन काजू खाने के फायदे और नुकसान दोनों है। इसलिए कोई भी समस्या होने पर पहले योग्य चिकित्सक से परामर्श लें, फिर सेवन शुरू करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here