हल्दी वाला दूध पीने के फायदे और नुकसान – Turmeric Milk (Haldi Doodh) Benefits In Hindi

0
1627
turmeric milk benefits in hindi
turmeric milk benefits

haldi wala doodh gud peene ke fayde benefits nuksan side effects bukhar mein kaise banta hai when to drink turmeric milk in hindi : हल्दी वाले दूध को पीने से कई चमत्कारी फायदे मिलते हैं और यह हमारे शरीर में उत्पन्न होने वाली बीमारियों से भी सुरक्षा प्रदान करता हैं। आप सुबह उठकर खाली पेट एक गिलास हल्दी वाला दूध पी सकते हैं। हल्दी दूध के स्वास्थवर्धक लाभ हमें सर्दी, जुखाम, बुखार और अन्य बीमारियों से निजाद दिलाने में सहायक होते हैं। बता दें कि हल्दी वाले दूध में एंटीकैंसर और एंटीआक्सीडेंट के गुण मौजूद होते है और हल्दी के कारण इसका रंग हल्का पीला दिखाई देने लगता हैं। बता दें कि इस पेय पदार्थ को आप घर पर ही तैयार कर सकते हैं। भारतीय संस्कृति में दूध हल्दी गुड़ के पारंपरिक फायदे हैं। हल्दी दूध का घरेलू नुस्खे रामवाण की माफिक हैं।

आम के फायदे

आज हम अपने इस लेख में आपको हल्दी और दूध को मिलकर पीने से जो फायदे मिलते हैं उनके बारे में बताने जा रहे हैं। लेकिन उससे पहले आपको इस पोष्टिक तत्व और उपयोग के बारे में बताते हैं।

हल्दी वाला दूध क्यों पीना चाहिए – Why Should We Drink Turmeric Milk In Hindi

हल्दी दूध पीने का सबसे प्रमुख कारण इसका पोष्टिक तत्वों से संपन्न होना हैं और यह छोटी मोटी बीमारियों को हमारे बगल में भी नही लगने देता हैं। बता दें कि दूध में कैल्शियम की मात्रा पाई जाती हैं जबकि हल्दी अपने प्राकृतिक स्त्रोतों जैसे एंटीबायोटिक के गुणों के कारण हमें कई अनजानी बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता हैं। लेकिन haldi wala doodh kab peena chahiye जब हम रात में एक गिलास मिल्क में हल्दी डालकर पीते हैं तो इससे मिलने वाले फायदे दुगने हो जाते हैं।

केले खाने के फायदे

हल्दी दूध के फायदे – Benefit Of Turmeric Milk In Hindi

हल्दी औषधीय गुणों से भरपूर हैं और इसको दूध के साथ मिला कर पीने से कई चमत्कारी फायदे मिलते हैं। आइये जान लेते हैं हल्दी और दूध के संगम से उत्पन्न होने वाले गुणकारी फायदों के बारे में।

हल्दी वाले दूध पीने के फायदे पाचन तंत्र को बनाए बेहतर – Turmeric Milk Benefits For Digestion In Hindi

यदि आप पेट में सूजन, भूख न लगना, पाचन में गड़बड़, गैस, अपच आदि समस्याओं से जूझ रहे हैं तो हल्दी दूध का सेवन कर सकते हैं, यह आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में सहायक होता हैं।

हल्दी वाले दूध पीने के फायदे बताइए कैंसर से बचाव में – Haldi Doodh Benefit For Cancer Patients In Hindi

हल्दी में उपस्थित कुछ औषधीय तत्व कैंसर उत्पन्न करने वाले शेल्स को नष्ट कर देते है और इस तरह हल्दी दूध का नियमित सेवन करने से कैंसर का खतरा भी कम हो जाता हैं।

दूध हल्दी गुड़ के फायदे सिर दर्द में दिलाए राहत – Dudh Haldi Aur Gud Ke Fayde For Headache In Hindi

हल्दी दूध के औषधीय गुण ऐसे लोगो के लिए बहुत फायदा पहुंचाते है जोकि माईग्रेन की समस्या से जूझ रहे हैं या जिन्हें सर दर्द की समस्या होती हैं। बता दें कि हल्दी मिल्क का सेवन करने से संभवता इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता हैं। इसको पीने से ब्लड पतला रहता हैं जिससे रक्त संचार को अच्छा बनाए रखता हैं।

दूध हल्दी और शहद के फायदे रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए – Haldi Shahad Aur Doodh Ke Fayde For Immune System In Hindi

हल्दी का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता हैं। बता दें कि इसके सेवन से मौसमी बदलाव के कारण उत्पन्न होने वाली बीमारियों से भी बचाव किया जा सकता हैं।

हल्दी और दूध के लाभ चोट लगने पर – Is Turmeric Milk Good For Injuries In Hind

यदि आपको किसी तरह की चोट लगी है तो आप हल्दी दूध को पी सकते हैं। क्योंकि इसमें मौजूद एंटी−बैक्टीरियल तत्व संक्रमण से आपको सुरक्षा प्रदान करते हैं।

बेनिफिट्स ऑफ हल्दी मिल्क हड्डियों को बनाए मजबूत – Turmeric Milk Benefits For Bones In Hindi

हल्दी वाला दूध पीने से आपकी हड्डियाँ मजबूत होती हैं क्योंकि इसमें कैल्शियम की मात्रा उपस्थित होती हैं जोकि हड्डियों को मजबूती प्रदान करती हैं। ऑस्टियोपोरोसिस या हड्डियों से सम्बंधित रोगों को भी दूर रखता हैं।

बेनिफिट्स ऑफ हल्दी वाला दूध फॉर (त्वचा) स्किन – Turmeric Milk Benefits For Skin In Hindi

त्वचा को स्वक्ष रखने के लिए हल्दी वाले दूध haldi milk benefits for skin in hindi का उपयोग किया जा सकता हैं। धूल धम्मास से भरी दिनचर्या में आप हल्दी दूध को पीने के अलावा रुई का उपयोग करके अपने चेहरे को साफ़ कर सकते हैं और त्वचा को चमका सकते हैं।

हल्दी और दूध के फायदे रखे मष्तिष्क को शांत – Turmeric Milk Benefits In Tension In Hindi

ऐसे व्यक्ति जिन्हें ठीक से नींद नही आती हैं वह दूध हल्दी (doodh mein haldi mila kar peene ke fayde) का सेवन रात में सोने से पहले कर सकते हैं। बता दें कि ऐसा करने से आपको सुकून भरी नींद आती हैं और जब आप सुबह उठते हैं तो आपका मन बिलकुल शांत रहता हैं।

दूध और हल्दी के गुण लीवर के लिए फायदेमंद – Benefits Of Turmeric Milk For Liver In Hindi

इसमें उपस्थित डीटोक्सीफयिंग गुण के कारण यह फैटी लीवर या लीवर सिरोसिस जैसी बीमारियों से हमें सुरक्षा प्रदान करता हैं। बता दें कि यह बात कम लोगो को पता होगा कि हल्दी दूध पीने से हमारे लीवर को कई सारे लाभ होते हैं।

वजन बढ़ाने में हल्दी वाले दूध के फायदे – Benefits Of Turmeric Milk For Weight Gain In Hindi

हल्दी दूध पीने से वजन बढ़ाने में मदद मिलती हैं। भागदौड़ भरी जिन्दगी में बाहर का खान-पान और व्यायाम न कर पाने के आभाव में अक्सर हम मोटापे के शिकार होते चले जाते हैं और कई बीमारियाँ हमारे आसपास मंडराने लगती हैं। लेकिन आप सुबह खाली पेट एक ग्लास हल्दी मिल्क का सेवन करके इन सबसे अपने आप को बचा सकते हैं।

च्यवनप्राश खाने के फायदे

हल्दी दूध बनाने की सामग्री – Turmeric Golden Milk Ingredients In Hindi

  • 1 ग्लास दूध
  • 1 चम्मच हल्दी
  • हल्का सी दाल चीनी पाउडर
  • हलकी सी काली मिर्च
  • स्वादानुसार शहद लेकिन यह कोई जरूरी नही हैं
  • एक चुटकी अदरक पावडर

हल्दी वाला दूध कैसे बनाया जाता है बताइए – How To Make Turmeric Milk (Haldi Doodh) In Hindi

  • हल्दी दूध बनाने के लिए सबसे पहले आप अपनी इक्षानुसार दूध ले और इसमें दूध के हिसाब से सीमित मात्रा में हल्दी डालकर गर्म कर ले।
  • गर्म होने के बाद आप गिलास में छान ले और अधिक फायदा पाने के लिए हल्का गुनगुना पी ले।
  • यदि आप इसका स्वाद लेना चाहते हैं तो थोडा ठंडा करके पिए और इसमें आप शहद का उपयोग भी कर सकते हैं।

हल्दी दूध पीने के नुकसान – Turmeric Milk Side Effects In Hindi

  • हल्दी वाला दूध पीने से पेट से सम्बंधित समस्या जैसे गेस बनना, पेट फूलना और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल आदि सामने आ सकती है।
  • बता दें की कुछ लोगो को हल्दी और दूध को साथ सेवन करने से एलर्जी की समस्या भी हो सकती हैं।
  • इसका सेवन सीमित मात्रा में करने से यह फायदा पहुंचाती हैं लेकिन अधिक मात्रा में सेवन करने से सीने में जलन, दस्त और अपच जैसी समस्याओं का सामना भी करना पड़ता हैं।
  • गर्वती महिलाओं को हल्दी दूध का सेवन डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए। क्योंकि ऐसी अवस्था में इसके उपयोग से दुष्परिणामों का सामना भी करना पड़ सकता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here