फसल गिरदावरी क्या होती है- Fasal Girdawari Download in Hindi

फसल गिरदावरी केसे देखे – Girdawari Download 2022 in Hindi फसल  की गिरदावरी कैसे देखते हैं- बहुत से लोग इन्टरनेट पर जामीन की गिरदावरी के बारे में सर्च करने हैं लेकिन उन्हें सटीक जानकारी नहीं मिलती. इस लेख में हम जमीन गिरदावरी के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने जा रहें हैं. फसल गिरदावरी (Fasal Girdawari in Hindi) की बात करें तो आपको बता दें कि यह किसी भी जमीन का एक रिकॉर्ड होता है इसका मतलब यह है कि आपकी खेत कितने बीगा में कौन कौन से फसल उगाई गई है ये रिकॉर्ड पटवारी द्वारा तैयार किया जाता है जिससे की किस किसान की जमीन में कौनसा बीज बोया गया है इसकी जानकारी फसल गिरदावरी की मदद से देखी जा सकती है. बता दें कि हर फसल की गिरदावरी हर साल की जाती है. जिसमें पटवारी यह देखता है कि किस किसान द्वारा कितनी भूमि में कौनसी फसल लगाईं गई है.

आपको बता दें कि रिकॉर्ड सरकार के पास होता है. इससे यह फायदा होता है कि अगर किसी भी आपदा की वजह से अगर फसल को नुक्सान होता है तो सरकार के पास उपलब्ध रिकॉर्ड के हिसाब से किसान को मुवाब्जा दिया जाता है. आप भले ही किसी भी राज्य के निवासी हो इस पेज पर हम आपको सभी राज्यों की गिरदावरी को ऑनलाइन देखने के लिए डायरेक्ट लिंक प्रदान करेंगे जिससे कि आप आसानी से अपनी फसल गिरदावरी की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

फसल गिरदावरी के फायदे-Fasal Girdawari Benifits

वैसे तो फसल गिरदावरी के बहुत से फायदे हैं लेकिन आपको बता दें जब की किसी भी कारण से अगर आपकी फसल ख़राब हो जाती है तो इस गिरदावरी से  आप अपनी फसल का बीमा करवा सकते हैं. जिससे की आप किसी भी आपदा की वजह से फसल ख़राब होने के भारी नुक्सान से भी बाख सकते हैं. इसलिये पटवारी हर साल जामीन की गिरदावरी करता है. आपको भी पटवारी द्वारा अपने खेत की सही गिरदावरी करवानी चाहिए.

आप अपनी जामीन की गिरदावरी पटवारी से आप अपनी पंचायत में भी खारवा सकते हैं जिससे कि आपकी फसल ख़राब होने पर उस रिकॉर्ड के अनुसार बीमा कंपनी आपको या सरकार द्वारा आपको मुआबजा दिया जाता है. अगर आप गिरदावरी में गलत जानकारी देते हैं तो इसका नुक्सान भी आपको ही उठाना पड़ सकता है.

फसल गिरदावरी कैसे करवाएं?

अपनी जमीन की गिरदावरी करवाने की प्रक्रिया: अगर किसान अपनी जमीन में रबी कि फसल या खरीफ कि फसल लगाते हैं वे अपनी पंचायत के पटवारी के पास जाकर जमीन की गिरदावरी करा सकते है. पटवारी हर साल आपकी पंचायत की गिरदावरी करता है इसलिए आप उस समय अपनी फसल की गिरदावरी करवा सकते हैं. अगर आप फसल लागाते समय खेत की नही करा पाते है तो ऐसे में आप पटवारी से फसल की कटाई से पहले गिरदावरी करवा सकते हैं. गिरदावरी की जानकारी आप ऑनलाइन भी चेक कर सकते हैं.

जमीन गिरदावरी कैसे चेक करें

अगर आप अपनी जमीन फसल की गिरदावरी चेक करना चाहते हैं तो इसके लये आपको अपने राज्य के ऑनलाइन पोर्टल पर जाना होगा. इस पेज पर हम आपको विभिन्न राज्य की गिरदावरी की रिपोर्ट चेक करने के लिए ऑफिसियल वेबसाइट का डायरेक्ट लिंक प्रदान करेंगे जिसकी मदद से आप पोर्टल पर जाकर या एप की मदद से ऑनलाइन गिरदावरी चेक कर सकते हैं.

अपने खेत की गिरदावरी कैसे डाउनलोड कर सकते हैं.

जमीन की गिरदावरी देखने या डाउनलोड करने के लिए आपके पास अपनी जमीन का खसरा नंबर होना चाहिए. खसरा नंबर की मदद से आप अपनी जमीन की गिरदावरी को आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं. अगर आप इसे डाउनलोड नही कर पा रहे तो आप इसे ई-मित्र पर जाकर अपने खेत के खसरा नंबर देकर अपनी गिरदावरी प्राप्त कर सकते हैं या फिर पंचायत के पटवारी से भी अपनी जमीन की गिरदावरी ले सकते हैं.

States NameFasal Girdawari
Andhra PradeshClick Here
Arunachal PradeshClick Here
AssamClick Here
BiharClick Here
ChhattisgarhClick Here
GoaClick Here
GujaratClick Here
HaryanaClick Here
Himachal PradeshClick Here
JharkhandClick Here
KarnatakaClick Here
KeralaClick Here
Madhya PradeshClick Here
MaharashtraClick Here
ManipurClick Here
MeghalayaClick Here
MizoramClick Here
NagalandClick Here
OdishaClick Here
PunjabClick Here
RajasthanClick Here
SikkimClick Here
Tamil NaduClick Here
TelanganaClick Here
TripuraClick Here
Uttar PradeshClick Here
UttarakhandClick Here
West BengalClick Here

Also check: इ श्रम कार्ड कैसे बनवाएं क्लिक करें

Leave a Comment