अश्वगंधा के फायदे और नुकसान- Ashwagandha health benefits and side effects Hindi

1
1616
Ashwagandha in hindi
Ashwagandha in hindi

Ashwagandha in Hindi | अश्वगंधा के फायदे हिंदी | ashwagandha ke fayde | Ashwagandha ke fayde bataye

अश्वगंधा एक प्रकार की पुरानी जड़ी बूटी हैं, जो मनुष्य के शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होती है। यह शरीर तनाव को कम करने में हमारी बहुत मदद करती हैं। आपको बता दें कि अश्वगंधाहमारे शरीर और मस्तिष्क के लिए भी अश्वगंधा बहुत ही फायदेमंद हैं। अश्वगंधा के उपयोग से हमारे दिमाग के कार्य करने और सोचने की क्षमता बढ़ती हैं। वही ब्लड प्रेशर और कोर्टिसोल (Cortisol) को कम कर सकती है। जिस व्यक्ति को नींद न आने या कम नींद की समस्या होती है उनके लिए भी अश्वगंधा एक बेहतरीन औषधीय दवा हैं।

अश्वगंधा का उपयोग कई प्रकार की बीमारियों को दूर करने में किया जाता हैं। जैसे चिंता, थकान, जोड़ो में दर्द, मानसिक और शारीरिक रूप से थके हुए लोगों के वरदान की तरह काम कर सकती हैं। आज के इस लेख में हम अश्वगंधा से जुड़े अनेक प्रकार के लाभों को आपको बताने जा रहे हैं।  

अश्वगंधा क्या है- Ashwagandha in Hindi

अश्वगंधा एक औषधीय जड़ी बूटी हैं। जिसका इस्तेमाल लगभग 3000 वर्षो पूर्व से करते आ रहे हैं। भारतीय सिद्धांतो पर आधारित यह औषधीय प्राकृतिक चिकित्सा के लिए एक आविष्कार के रूप में कार्य करती हैं। आज के युग में मेडिकल साइंस ने बहुत तरक्की कर ली हैं। लेकिन फिर भी इस औषधीय जड़ी बूटी के मुकाबले कोई दवा नहीं हैं। अश्वगंधा के नाम को टुकड़ो में तोड़े तो इसका अर्थ होता हैं। अश्वगंधा नाम का संस्कृत में अर्थ होता है “घोड़े की गंध” जो अनूठी गंध और ताकत बढ़ाने की क्षमता दोनों को प्रदर्शित करता है।

अश्वगंधा के फायदे- Ashwagandha ke fayde in Hindi

1. रक्त शर्करा के स्तर को कम करने अश्वगंधा के फायदे  – Helpful in lowering blood sugar level

अश्वगंधा का उपयोग रक्त शर्करा के स्तर को कम भी करने में मदद करता हैं। एक शोध के अनुसार, इसके उपयोग से इंसुलिन स्त्राव में बढ़ावा और मांसपेसियों में सुधार देखने को मिला। वही यह स्वस्थ व्यक्ति और शुगर मरीजों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता हैं।

2. कोर्टिसोल को कम करे – Reduce cortisol

कोर्टिसोल एक प्रकार स्ट्रेस हार्मोन होता हैं। जो तनाव का काम करता हैं। तनाव की वजह से आपके रक्त शर्करा पर भी प्रभाव पड़ता हैं। जो आपके शरीर को नुकसान पहुँचाने वाला होता हैं। इसे नियंत्रण में रखने के लिए अश्वगंधा जैसी जड़ी बूटी एक बहुत ही बेहतरीन इलाज हैं।

3. तनाव और चिंता से करे मुक्त – Relieve from stress and anxiety

वे लोग जो हर समय तनाव और चिंता से गस्त रहते हैं और हर टेंशन में रहते हैं। या या जो मानसिक और शारीरिक रूप से जो परेशान हैं। ऐसे लोगो को अश्वगंधा का उपयोग अवश्य करना चाहिए। इसके इस्तेमाल से आप कई गुना तक अपने तनाव को नियंत्रित कर सकते हैं। अश्वगंधा आपके शरीर और आपके दिमाग में एक नई ऊर्जा का संचार करती हैं। और आपको तनाव से लड़ने में मदद करती हैं।

4. डिप्रेशन में अश्वगंधा के फायदे – Ashwagandha for depression in Hindi

आज के समय में वैसे तो हर व्यक्ति की अपनी समस्याये हैं। लेकिन कुछ लोग अपनी परेशानियों को लेकर इतने चिंतित हो जाते हैं। कि वह मानसिक रूप से पूरी तरह से लाचार होकर डिप्रेशन में चले जाते हैं। कुछ शोध की जानकारी के मुताबिक यह जाना गया कि अश्वगंधा डिप्रेशन में गये लोगो के लिए भी फायदेमंद हैं। यह आपकी सोच में एक सकारात्मकता का बीज बोती हैं। हालाँकि इस शोध को पूरी तरह से सही नहीं माना गया हैं। लेकिन यह सत्य हैं कि अश्वगंधा डिप्रेशन को दूर करने के लिए बेहतर दवा हैं।

5. टेस्टोस्टेरोन में वृद्धि करता हैं – Increases testosterone

ashwagandha benefits for men in hindi अश्वगंधा के उपयोग से पुरुषो में प्रजनन क्षमता का विकास होता हैं। वही टेस्टोस्टेरोन में भी बढ़ावा करता हैं। टेस्टोस्टेरोन एक प्रकार का मेल हार्मोन होता हैं। जो पुरुषो के शरीर में एक जरुरी प्रकार की महत्वपूर्ण भूमिका निभाता हैं। टेस्टोस्टेरोन नामक यह हार्मोन टिश्यू (tissue) के प्रजनन (reproduction) का कार्य करता हैं। अतः अश्वगंधा जैसी जड़ी बूटी पुरुषो के लिए अत्यंत फायदेमंद है। इसके उपयोग करने से जिनके अंदर इसकी कमी होती हैं। उसे यह पूर्ण करता हैं। वही यह पुरुषो के शरीर में इसके विकास का भी काम करता हैं।

6. माँसपेशियों और ताकत को बढ़ाये – Increase muscle mass and strength

अश्वगंधा जैसी औषधीय के सेवन करने से शरीर में ताकत का संचार होता हैं। साथ ही माँसपेशिया भी बेहतर होती हैं। एक अध्ययन के अनुसार, जिन लोगो ने नियमित रूप से इसका सेवन किया हैं उनके शरीर में पहले से काफी बदलाव देखने को मिला हैं। पुरुषो के शरीर में वसा को कम करने लिए भी इसका उपयोग किया गया हैं।

7. सूजन को कम करे – Reduce swelling

कई शोधो से जानकारी मिली कि अश्वगंधा सूजन को कम करने के लिए भी काम में आता हैं। यह हमारे शरीर की कोशिकाओं की कार्य करने की गति में वृद्धि करता हैं। इन्हे प्रतिरक्षा कोशिकाएं कहा जाता हैं। जो रोगो और बीमारियों से लड़ती हैं और साथ ही हमें स्वस्थ रखने में भी सहायता करती हैं। यह हमारी शरीर की सूजन को भी कम करने में मददगार हैं।

 8. कोलेस्ट्रॉल को कम करे – Reduce cholesterol

अश्वगंधा शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करके हृदय को स्वस्थ रखने में भी मदद करता हैं। यह हमारे शरीर में रक्त वसा की लेवल को कम रखता हैं। चूहों के अध्ययन में यह पाया गया कि कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के लेवल को यह 51 प्रतिशत से 47 प्रतिशत तक कम कर देता हैं। अतः यह हमारे शरीर के लिए अधिक प्रभावीशाली हैं। इसी के साथ यह हमे किसी भी प्रकार की हृदय से जुडी समस्या या रोग से दूर रखने में हमारी मदद करता हैं।

9. दिमाग के कार्य करने की क्षमता को बढ़ाये – Increase brain capacity

अश्वगंधा दिमाग के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं। यह हमारे माइंड की कार्य करने की (brain function) क्षमता में वृद्धि करता हैं। यह हमारी यादाश्त के लिए भी बहुत ही अच्छा हैं। यह एंटीऑक्सिडेंट की क्रियाओं को भी बढ़ाने में सक्षम हैं। जो तंत्रिका कोशिकाओं को हानिकारक कणो से मुक्त करता हैं। एक शोध के अनुसार यह पता चला कि जिन पुरुषो ने 500 मिलीग्राम अश्वगंधा का सेवन किया उनके कार्य और क्रिया समय में अच्छे परिणाम देखने को मिले।

10. एंटीऑक्सीडेंट गुण – Antioxidant Properties

एक शोध के अनुसार अश्वगंधा के अंदर एंटीऑक्सीडेंट गुण पाये जा सकते हैं, जो कई प्रकार की अनेक बीमारियों के खतरे को कम करते हैं। जैसे मिर्गी, पार्किंसंस रोग और अल्जाइमर रोग जैसी न्यूरोलॉजिकल में मुख्य भूमिका को निभाते हैं। अश्वगंधा जैसी जड़ी बूटी कई बीमारियों को ख़त्म करने में सहायक हैं।

अश्वगंधा के नुकसान- side effects of ashwagandha in hindi

ashwagandha ke nuksaan वैसे तो अश्वगंधा ज्यादातर लोगों के लिए फायदेमंद होता है लेकिन गर्भवती महिलायों और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका सेवन न करने की सलाह दी जाती है। जिन भी लोगों को स्व-प्रतिरक्षित रोग(Autoimmune disease) की शिकायत हैं। उन्हें भी अश्वगंधा का उपयोग नहीं करना चाहिये। लेकिन अगर वह इसका सेवन करना चाहते हैं। तो आपको सबसे पहले किसी डॉक्टर या विशेषज्ञ से सलाह ले लेनी चाहिये।

वही जिन लोगो को थाइराइड जैसा रोग हैं। उन्हें अश्वगंधा से दूर रहना चाहिये। वरना इसके इस्तेमाल से थाइराइड हार्मोन के स्तर में बढ़ावा हो सकता हैं। और आपके लिए परेशानी की वजह बन सकता हैं। जब भी आप अश्वगंधा का सेवन करे तो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर और अपने शारीरिक रूप से जाँच करने के बाद ही इसका सेवन करे और लेबल पर लिखे सारे नियमो का सावधानी पूर्वक इस्तेमाल करे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here